×
image
supervisor_account

स्वयंसेवक बने

favorite_border

प्रोत्साहित करें

language

प्रचार कीजिये

face

दान करें

महाराजा अग्रसेन धाम

महाराजा अग्रसेन जी के आदशों एवं सिद्धान्तों के आधार पर अग्रसेन धाम के निर्माण का संकल्प लिया गया है। यह धाम 300 बीघा भूखंड पर बन रहा है| अग्रसेन धाम के निर्माण से हम शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वरोजगार प्रशिक्षण, सांस्कृतिक उत्थान आदि को क्रियान्वित कर सकेंगे। अग्रसेन धाम राजस्थानी कला की रूप सज्जा से बागनान, हावड़ा में निर्मित हो रहा है एवं सभी के लिये दर्शनीय एवं नई प्रेरणा का स्रोत होगा। भगवान राम जी की सूर्यवंशी कुल परम्परा में आज से लगभग 5200 वर्ष पूर्व जिस आदर्श पुरुष एवं अपने युग के श्रेष्ठ राष्ट्रनायक ने क्षत्रिय धर्म को त्याग कर वैश्य धर्म का वरण किया था, उन्हें हम महाराजा अग्रसेन जी के नाम से श्रद्धापूर्वक स्मरण करते हैं । आर्य संस्कृति के ज्ञात इतिहास में मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी के बाद महाराजा अग्रसेन जी ने आदर्श परिवार व्यवस्था, सुदृढ़ प्रजातांत्रिक प्रशासन एवं समतामूलक आदर्श समाजवाद की स्थापना एवं आत्मोत्कर्ष के लिए अहिंसा, सत्य, सद्भाव के साथ सुव्यवस्थित वैवाहिक जीवन का सूत्रपात किया था। महाराजा अग्रसेन जी मात्र अग्रवंश के ही प्रेरणा स्रोत नहीं है, अपितु वे समस्त मानवता के लिए आदर्श हैं । महाराजा अग्रसेन जी के इन्हीं स्वर्णिम आदर्शो के द्वारा ही हम विश्व में हर प्रकार से पुष्ट समाज की स्थापना कर सकते हैं। महाराजा अग्रसेन जी की इसी परंपरा और आदर्शों का पालन करते हुए उनके वंशजो ने समाज के उत्थान के लिए कई उल्लेखनीय कार्य किए हैं जैसे अस्पताल, स्कूल, कॉलेज, मन्दिर, पुस्तकालय, औषधालय आदि का निर्माण एवं उनके संचालन में पूर्ण रूप से समर्पित है।

what do we do

हमारे प्रकल्प

चरण-1 (सम्पूर्ण)

महाराजा अग्रसेन मेडिकल सेंटर

इसकी स्थापना 2015 में श्री श्याम सुंदर अग्रवाल जी द्वारा की गई थी। रोगियों को मुफ्त नेत्र जांच, चश्मा और दवाएं प्रदान की जाती हैं। विभिन्न विशिष्टताओं में डॉक्टर उपलब्ध हैं, डायग्नोस्टिक और पैथोलॉजी अनुभाग में चिकित्सा परीक्षण भी किए जाते हैं।

प्रतिदिन 100 मरीजों की सेवा की जाती है।

महाराजा अग्रसेन मनोविकास सेवा केंद्र

इसकी स्थापना श्री मुरारीलाल दीवान जी द्वारा मानसिक रूप से विकलांग और विशेष रूप से विकलांग बच्चों के लिए की गई थी। युवा वयस्कों को रोजगार योग्य और आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनाने के लिए इन छात्रों को डे बोर्डिंग और काउंसलिंग प्रदान की जाती है।

यहां फिलहाल 50 बच्चों को जोड़ा जा रहा है।

महाराजा अग्रसेन दिव्यांग सेवा केंद्र

इसकी स्थापना 2017 में श्री दीपक अग्रवाल जी द्वारा की गई थी। अंगों (हाथों और पैरों) में विकलांगता वाले मरीजों को समाज में जीवित रहने के लिए उनके जीवन को आसान बनाने के लिए कृत्रिम कृत्रिम अंग प्रदान किए जाते हैं।

अब तक 800 रोगियों को सेवा दी जा चुकी है और अंततः संख्या बढ़ रही है।

महाराजा अग्रसेन वाटिका

इसकी स्थापना 2017 में श्री निर्मल सराफ जी द्वारा की गई थी। इसमें एक सुंदर उद्यान और एक सामुदायिक हॉल है। यहां पिकनिक और अन्य सामाजिक समारोह किए जाते हैं। विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा अन्य सामाजिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियाँ भी निःशुल्क की जाती हैं।

कौशल विकास केंद्र

कोर्स

1.फैशन डिजाइनिंग

2.ज्वैलरी डिजाइनिंग

3.हेल्थ असिस्टेंट(पेशेंट केयर}

4.अकाउंटिंग सह टैली

5.मल्टीमीडिया एवं एनीमेशन

6.डेजिंग डीटीपी एवं ऑटोकैड

7.ऑफिस ऑटोमेशन एवं वेब डिजाइनिंग

चरण-2 (कार्य प्रगति पर)

अग्रकुल देवी महालक्ष्मी जी मंदिर

यह मंदिर महालक्ष्मी जी, धन की देवी को समर्पित है। विश्व स्तरीय, अत्याधुनिक वास्तुकला की दृष्टि से 3 दिसंबर 2022 को उद्घाटन किया गया। इसका निर्माण समाज एवं सदस्यों के योगदान से किया जा रहा है।

चरण-3 (शीघ्र प्रारम्भ)

हम जरूरतमंद लोगों की मदद करते हैं

स्वयंसेवक बनें और दूसरों की मदद करें
स्वयंसेवक बनें
300
क्षेत्रफल बीघा
247441
लोगों के लिए चिकित्सा
41304
लोगों के लिए शिक्षा
2311
स्वयंसेवक

हमारे नवीनतम आयोजन